अपने बच्चे परफेक्ट और अलग नाम रखने में इन टिप्स को अपनाये …

अपने बच्चे  परफेक्ट और अलग नाम रखने में इन टिप्स को अपनाये ...

नई दिल्ली  : प्रेगनेंसी के बाद शिशु की देखभाल के अलावा अगला कदम यही होता है कि बच्‍चे का नाम क्‍या रखा जाएगा। ज्यादातर माता पिता तो बच्चे के गर्भ में रहने के दौरान ही उसके लिए अलग अलग नामों की लिस्ट बनाना तैयार कर देते हैं। अगर आप भी अपने शिशु के नाम को लेकर उलझन में हैं और आपको कोई नाम समझ नहीं आ पा रहा है तो आज इस लेख के जरिए हम आपको अपने बच्‍चे का नाम रखने के लिए कुछ मदद कर सकते हैं।

आपको अपने बच्‍चे का नाम कुछ ऐसा रखना चाहिए जो बोलने में मुश्किल ना हो और कुछ अनोखा लगे। ज्‍यादा अलग नाम रखने की गलती ना करें क्‍योंकि इससे बच्‍चे को बड़े होकर दिक्‍कत हो सकती है। बच्‍चे का नाम ज्‍यादा हास्यास्पद भी ना रखें कि दूसरों को सुनकर हंसी आ जाए और आपका बच्‍चा दूसरों के मनोरंजन का कारण बन जाए।

आपके एक बार नाम रखने के बाद आपके बच्‍चे को अपनी पूरी जिंदगी उस नाम के साथ ही बितानी है इसलिए आपको समझना चाहिए कि शिशु का नाम केवल आपके लिए ही नहीं बल्कि आपके बच्‍चे के लिए भी बहुत महत्‍वपूर्ण है। कोई भी नाम चुनने से पहले दस बार सोच-विचार कर लें और माता पिता दोनों मिलकर नाम फाइनल करें।आजकल लड़का और लड़की दोनों के नाम में ज्‍यादा फर्क नहीं रहा है।

अब दोनों का एक जैसा ही नाम रखा जाता है लेकिन अगर आप ऐसा कोई नाम रखने की सोच रहे हैं तो इस बात का ध्‍यान जरूर रखें कि आपके बच्‍चे को उससे शर्मिंदगी महसूस ना हो। उदहारण के तौर पर, गगन नाम लड़के का है लेकिन कई लोग बेटी का नाम भी गगन रख देते हैं जो कि सही नहीं है।

आप भी ऐसी गलती करने से बचें।आप अपने बच्‍चे को निक नेम यानि घर का नाम भी दे सकते हैं लेकिन यहां आपको एक बात का बहुत ध्‍यान रखना है कि निक नेम सिर्फ घर पर ही हो और इसका असर बच्‍चे की प्रोफेशनल लाइफ जैसे कि ऑफिस या स्‍कूल पर ना पड़े। अगर ऐसा हुआ तो उसके दोस्‍त उसके निक नेम का मजाक उड़ा सकते हैं।

अगर आप अपने बच्‍चे को कोई अटपटा सा निक नेम देते हैं तो ये उसके लिए तकलीफदेह हो सकता है इ‍सलिए अपने बच्‍चे को निक नेम के साथ एक असली और सही नाम भी दें।जैसा कि हम आपको पहले भी बता चुके हैं कि बच्‍चे का नाम शुरु से लेकर आखिर तक बोलने में आसान होना चाहिए। ऐसा ना हो कि घर में बड़े-बुजुर्गों या किसी और को आपके बच्‍चे का नाम लेने में दिक्‍कत हो।

उदाहरण के तौर पर, किसी लड़की का नाम ट्विंकल हो तो बुजुर्ग व्‍यक्‍ति को ये नाम लेने में दिक्‍कत हो सकती है इसलिए ऐसा कोई मुश्किल नाम रखने से बचें।हर बच्‍चे को अपने पिता से उपनाम मिलता ही है लेकिन अगर आप उसके असली नाम में पूर्वजों के नाम को जोड़ देते हैं तो ये आपके बच्‍चे के लिए शर्मिंदगी की वजह बन सकता है क्‍योंकि ऐसा नाम बोलने में काफी अजीब लगता है।

बच्‍चे को सामान्‍य नाम देना चाहिए।अपने बच्‍चे को नया नाम देने के लिए आप दो नामों को जोड़कर भी एक सुंदर-सा नाम बना सकते हैं। कुछ अनोखेपन से दो नामों को जोड़ने की कोशिश करें और अपने बच्‍चे के लिए नाम चुनें। ऐसा नाम चुनें जो आज और आने वाले समय में पसंद आ सके।बच्‍चा पहला हो या दूसरा, माता-पिता के लिए बहुत खास होता है।

भारत में शिशु को ऐसा नाम देने पर जोर दिया जाता है जिसका कोई मतलब हो। कहते हैं कि बच्‍चे के नाम का असर उसके स्‍वभाव पर भी पड़ता है इसलिए कोई सकारात्‍मक मतलब वाला नाम रखें।आप अपने बच्‍चे को मध्‍य नाम (मिडल नेम) भी दे सकते हैं लेकिन ये उसके असली एवं पहले नाम और उपनाम के साथ जंचना चाहिए।

अगर आपने पहले से ही कोई नाम सोच रखा है तो एक बार उसे जोर से चिल्‍लाकर बोलें। अगर ये सुनने में आपको अच्‍छा लगता है तो इसका मतलब है कि नाम बिल्कुल सही है। बच्‍चे का नाम आकर्षक होना चाहिए। इसके अलावा नाम से किसी भी तरह की आपत्ति या अपमानजनक बात एवं मतलब ना निकले।

खैर, अगर आप अब तक अपने बच्‍चे का नाम नहीं सोच पाए हैं तो कोई बात नहीं। चूंकि, ये बहुत महत्‍वपूर्ण निर्णय है इसलिए जितना चाहे उतना समय लें। बच्‍चे के स्‍कूल जाने से पहले तक आप उसे कोई निक नेम देकर भी बुला सकते हैं। इतने समय में तो आपको अपने बच्‍चे के लिए कोई सही नाम मिल ही जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *