Buddha Purnima

Buddha Purnima

सिर्फ लड़कियों को ही नहीं लड़कों को भी करवाना चाह‍िए फेशियल....

नई दिल्ली  :   महिलाएं अपनी स्किन को लेकर काफी सजग होती है। समय-समय पर जाकर चेहरे की फेशियल जरुर करवाती हैं। सिर्फ महिलाएं ही नहीं, आजकल तो पुरुष भी फेशियल कराके अपनी त्वचा का पूरा ध्यान रखते हैं। भले की उनकी त्वचा को रफ-टफ माना जाता हो, लेकिन समय-समय पर कुछ ट्रीटमेंट की जरुरत उन्हें भी होती है। ताकि प्राकृतिक तौर पर मिली स्वस्थ त्वचा स्वस्थ ही रह सके। आइए

बुद्ध पूर्णिमा 2019: जानिए कौन से काम होगें शुभ और कौन से अशुभ

नई दिल्ली: आज वैशाख मास की पूर्णिमा तिथि और शनिवार का दिन है। शास्त्रों में वैशाख पूर्णिमा का बड़ा ही महत्व है। आज के दिन रात 02 बजकर 22 मिनट तक विशाखा नक्षत्र भी है। दरअसल विशाखा नक्षत्र से युक्त होने के कारण ही इस पूर्णिमा को वैशाख पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। साथ ही आपको बता दें कि वैशाख पूर्णिमा को विशेष तौर पर बुद्ध पूर्णिमा के

बुद्ध पूर्णिमा 2019: जानिए इस दिन से जुड़ी कुछ खास बातें

नई दिल्ली: वैशाख पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा भी कहते हैं। यह गौतम बुद्ध की जयंती है और उनका निर्वाण दिवस भी। इसी दिन भगवान बुद्ध को बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी। आज बौद्ध धर्म को मानने वाले विश्व में 50 करोड़ से अधिक लोग इस दिन को बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए बुद्ध विष्णु के नौवें अवतार हैं। अतः हिन्दुओं के लिए भी यह दिन पवित्र

बुद्ध पूर्णिमा 2019: देशभर में धूमधाम से मनाया जा रहा त्यौहार

नई दिल्ली: आज वैशाख पूर्णिमा है जिसे बुद्ध पूर्णिमा भी कहते हैं। बुद्ध पूर्णिमा पर बौद्ध धर्म के संस्थापक और भगवान विष्णु के नौवें अवतार भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था। बौद्ध धर्म में इस दिन का विशेष महत्व होता है। बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर देश- विदेश के बौद्ध मंदिरों और मठों में विशेष प्रार्थना सभाएं और पूजा-पाठ आयोजित किए जा रहे हैं।

बुद्ध पूर्णिमा 2019: जानिए कैसे गिलहरी की सीख से सिद्धार्थ बनें थे बुद्ध

नई दिल्ली: एक समय कपिलवस्तु के राजकुमार सिद्धार्थ बुद्धत्व की खोज में भटक रहे थे। उनकी हिम्मत टूटने लगी। एकबारगी तो उन्हें लगा कि सत्य और ज्ञान की खोज में उनका गृह त्यागना व्यर्थ गया। कहा जाता है कि ऐसे वक्त में एक नन्ही गिलहरी की एक सीख ने उन्हें सिद्धार्थ से गौतम बुद्ध बनने में मदद की। दरअसल हुआ यह कि सिद्धार्थ के मन में यह विचार उठने लगा

बुद्ध पूूर्णिमा 2019: जानिए इस दिन की प्रचलित मानयाताएं और प्रावधानों के बारें में

नई दिल्ली: वैशाख मास की पूर्णिमा को मनाई जाने वाली बुद्ध पूर्णिमा को वैशाख पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन का काफी महत्व है। इस दिन को भगवान गौतम बुद्ध की जयंती और उनके निर्वाण दिवस दोनों के ही तौर पर मनाया जाता है। इसी दिन भगवान बुद्ध को बौध यानी ज्ञान प्राप्त हुआ था। यह बुद्ध अनुयायियों के लिए काफी बड़ा त्योहार है। बुद्ध भगवान

बुद्ध पूर्णिमा 2019: जानिए इस दिन का महत्व और मान्यताएं

नई दिल्‍ली: बुद्ध पूर्णिमा एक बड़ा त्‍योहार है, जिसे हिन्‍दू और बौद्ध दोनों धर्म के अनुयायी बड़े उत्‍साह के साथ मनाते हैं। मान्‍यता है कि इसी दिन बौद्ध धर्म के संस्‍थापक महात्‍मा बुद्ध ने जन्‍म लिया था। वहीं बुद्ध को श्री हरि विष्‍णु का अवतार माना जाता है, इसलिए हिन्‍दुओं के लिए भी इस पूर्णिमा का विशेष महत्‍व है। गौतम बुद्ध के जन्‍मोत्‍सव के कारण बुद्ध पूर्णिमा को बुद्ध जयंती

बुद्ध पूर्णिमा 2019: इन प्यार भरे संदेशों को भेजकर दे बुद्ध पूर्णिमा की बधाई

नई दिल्ली: हिंदू और बौद्ध दोनों ही धर्मों में बुद्ध पूर्णिमा धूमधाम से मनाई जाती है। मान्यता है बौद्ध धर्म के संस्थापक महात्मा बुद्ध भगवान विष्णु के अवतार हैं। बुद्ध पूर्णिमा के दिन महात्मा बुद्ध का जन्म हुआ था। इसे बुद्ध जयंती ‘वेसाक’, विनायक पूर्णिमा या सत्‍य विनायक पूर्णिमा उत्सव के नाम से भी जाता जाता है। इस बार बुद्ध पूर्णिमा 18 मई को है। इस दिन बौद्ध लोग घरों

बुद्ध पूर्णिमा 2019: पढ़िए जीवन में शांति और सफलता लाने वाले महात्मा बुद्ध के 10 विचार

नई दिल्ली: आज पूरे देश में महात्मा बुद्ध का जन्मदिवस मनाया जा रहा है। बौद्ध धर्म के साथ-साथ हिंदुओं के लिए भी ये दिन बहुत खास होता है। बुद्ध पूर्णिमा को बुद्ध जयंती (और ‘वेसाक’ उत्सव के रूप में भी मनाया जाता है। मान्‍यता है कि इसी दिन महात्मा बुद्ध को बोधि वृक्ष के नीचे ज्ञान की प्राप्‍ति हुई थी और यही उनका निर्वाण दिवस भी है। बता दें, सुख

बुद्ध पूर्णिमा 2019: जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त कब है

नई दिल्ली: वैशाख मास की पूर्णिमा को गौतम बुद्ध की जयंती के रूप में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इसलिए वैशाख पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा कहा जाता है। कहते है इसी दिन भगवान बुद्ध को बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी। जहां विश्वभर में बौध धर्म के करोड़ों अनुयायी और प्रचारक है वहीँ उत्तर भारत के हिन्दू धर्मावलंबियों द्वारा बुद्ध को विष्णुजी का नौवा अवतार माना कहा गया है। शांति