Ganesh Chaturthi

Ganesh Chaturthi

गणपति विसर्जन को लेकर सोनाली बेंद्रे ने कही ये खास बात....

नई दिल्ली:    गणेश चतुर्थी का त्योहार मुंबई में काफी धूमधाम से मनाया जाता है। लेकिन जिस तरह से इस त्योहार को मनाए जाने के दौरान प्रदूषण किया जाता है उसको लेकर फिल्म अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे ने ट्वीट करके नाराजगी जाहिर की है। सोनाली बेंद्र ने लोगों से अपील की है कि वह गणेश विसर्जन के बाद फैलने वाली गंदगी पर ध्यान दें। सोनाली बेंद्र ने गणेश विसर्जन की एक

भगवान गणेश को करना है खुश तो 15 मिनट में घर पर बनाए स्वादिष्ट मोदक....

नई दिल्ली  : पूरे देश में गणेश चतुर्थी का त्योहार पूरे धूमधाम से मनाया जाएगा। बता दें कि गणेश चतुर्थी की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है चारों तरफ इसकी तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई है। गणेश चतुर्थी ऐसे तो पूरे देश में मनाया जाता है लेकिन महाराष्ट्र में इसका खास महत्व है। महाराष्ट्र में हर तबके के लोग इस त्योहार को मनाते हैं। जगह-जगह मूर्ति स्थापना और पंडाल

कम लोग ही जानते है श्री गणेश चतुर्थी से जुड़ी ये बाते....

नई दिल्ली  :  भगवान शिव और मां पार्वती की संतान भगवान गणेश का स्‍वरूप अद्भुत है। उनकी नाक हाथी की सूंड की तरह और बड़े-बड़े कान हैं। भगवान गणेश को सफलता एवं मुसीबतों तथा दुश्‍मनों का संहारक माना जाता है। उन्‍हें शिक्षा, ज्ञान, बुद्धि और समृद्धि का कारक भी माना जाता है। यहां तक कि भगवान गणेश को हिंदू धर्म के पांच प्रमुख देवी-देवताओं (ब्रह्म, विष्‍णु, महेश और मां दुर्गा)

'देवा हो देवा गणपति देवा तुमसे बढ़कर कौन' , गणेश चतुर्थी पर लोगो ने लगाया ये जयकारा....

लखनऊ:   श्री गणेश प्राकट्य कमेटी की ओर से 14वां श्री गणेश महोत्सव सोमवार को झूलेलाल घाट निकट हनुमान सेतु के पास शुरू हुआ। कार्यक्रम की शुरुआत प्रात: 9:30 बजे विधिविधान से गणपति की मूर्ति स्थापना, शृंगार एवं पूजन के साथ हुई। आचार्य कमलेश पंडित के साथ अन्य आचार्यों ने मंत्रों के साथ मूर्ति स्थापना कराई। मनौतियों के राजा के नाम से होने वाला सबसे बड़े ‘श्री गणेश महोत्सव में शाम

घर पर बनाएं गणपति के पसंदीदा मोदक, बिना पकाए भी बन सकती है मिठाई...

नई दिल्ली  :  वैसे तो गणपति जी लड्डू भी खूब पसंद करते हैं लेकिन उनकी पसंदीदा मिठाइयों में मोदक खास होती है। वैसे तो भोग खुद बनाएं या बाजार से ला कर प्रभु को प्रसाद चढ़ाएं, लेकिन यदि भक्त अपने हाथों से पूरी श्रद्धा और भक्ति से जब प्रसाद बना कर प्रभु को चढ़ाते हें तो उसका फल ज्यादा मिलता है। साथ ही घर में भी त्योहार का उत्साह बना

ब्रज की धरा पर घर घर पधारेंगे गजानन, ऐसे मिली गणेश उत्‍सव को यहां भव्‍यता....

आगरा:   बुद्धिविनायक भगवान गणपति के पूजन के लिए मंदिरों में मनाया जाने वाला गणेशोत्सव अब गली-गली, मुहल्ले-मुहल्ले पहुंच गया है। पूरा शहर 10 दिन तक गणेशमय हो जाता है, जगह-जगह पंडाल लगा कर पूजे जाते हैैं विघ्न विनाशक। प्रतिदिन सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं होती हैैं।करीब तीन दशक पहले तक यह गणेश चतुर्थी एक ही दिन मनाई जाती थी। घरों में मिट्टी के गणपति महिलाएं स्वयं बनाती थीं, उनका पूजन किया

गणेश चतुर्थी पर भारत के इन मंदिरों में करने जाएं दर्शन....

नई दिल्ली  :  गणेश चतुर्थी के शुरू होते ही पूरे देश में गणपित पूजा शुरू हो गई। भगवान गणेश के भक्त काफी उत्साह के साथ इस त्यौहार को मना रहे हैं। जबतक गणपित विसर्जन तक यही भक्ति भरा माहौल रहेगा। इस दौरान हर तरफ गणपति बप्पा के जयकारे सुनाई देते रहेंगे। इसके अलावा गणपित विसर्जन तक पंडालों में खूब जगराते होते हैं। आइए जानते हैं कि देश के प्रसिद्ध गणेश

भगवान गणेश को लगाएं ड्रायफ्रूट मोदक का भोग, घर पर ऐसे करें तैयार....

नई दिल्लीः  देश भर में इन दिनों गणेशोत्सव की धूम है। हर तरफ गणेश भक्त उनकी पूजा-अर्चना में लगे हैं और उन्हें खुश करने के लिए तरह-तरह के भोग तैयार कर रहे हैं। इनमें सबसे खास होता है मोदक, क्योंकि यह भगवान गणेश का सबसे प्रिय होता है। इसीलिए भक्त खासतौर पर गणेश चतुर्थी के दौरान भगवान गणेश को मोदक का भोग लगाते हैं, तो चलिए आज आपको बताते हैं

आप जानते हैं गणेश जी के शरीर का रंग हरा और लाल है, जानें गणेश जी से जुड़े दिलचस्प तथ्य....

नई दिल्ली  :  भगवान शिव और मां पार्वती की संतान भगवान गणेश का स्‍वरूप अद्भुत है। उनकी नाक हाथी की सूंड की तरह और बड़े-बड़े कान हैं। भगवान गणेश को सफलता एवं मुसीबतों तथा दुश्‍मनों का संहारक माना जाता है। उन्‍हें शिक्षा, ज्ञान, बुद्धि और समृद्धि का कारक भी माना जाता है। यहां तक कि भगवान गणेश को हिंदू धर्म के पांच प्रमुख देवी-देवताओं (ब्रह्म, विष्‍णु, महेश और मां दुर्गा)

इस बार घरों में विराजे मिट्टी के गणपति, जानिए क्यों?....

बेंगलुरु:   पूरा देश इस वक्त गणेश उत्सव में डूबा हुआ है, हर आम से लेकर खास तक सभी बप्पा की मस्ती में रंगे दिखे, 2 सितंबर से आरंभ हुआ गणेश उत्सव अब अपने अंतिम दौर में है, लोगों के घरों में कहीं 1, कहीं 3 तो कहीं 5 दिन गणपति विराजे हैं, लोगों ने उत्साह, भरोसे और विश्वास के साथ अपने घरों में बप्पा की पूजा की है, इस बार