Nag Panchami

Nag Panchami

नाग पंचमी 2019: आज है नागपंचमी, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, व्रत कथा और महत्‍व

नई दिल्ली: हिन्‍दू धर्म में देवी-देवताओं के साथ ही उनके प्रतीकों और वाहनों की पूजा-अर्चना करने की भी परंपरा है। देवी-देवताओ के ये प्रतीक और वाहन किसी करिश्‍माई लोक से नहीं बल्‍कि प्रकृति का अभिन्‍न हिस्‍सा हैं, जिन्‍में जानवर, पक्षी, सरीसृप, फूल और वृक्ष शामिल हैं। नाग पंचमी (Nag Panchami) भी ऐसा ही एक पर्व है जिसमें सांप या नाग को देवता (Nag Devta) मानकर उसकी पूजा की जाती है।

नाग पंचमी 2019: सावन सोमवार और नाग पंचमी का दुर्लभ संयोग आज, मिलेगा शिव पूजा का विशेष फल

नई दिल्ली: सावन का तीसरा सोमवार और नाग पंचमी आज (5 अगस्त 2019 ) एक साथ हैं। शिव भक्तों के लिए नाग पंचमी और सावन सोमवान का दुर्लभ संयोग दशकों में बाद आया है। माना जाता है कि सोववार और नाग पंचमी एक साथ आने से सोमवार का व्रत रखना और नाग पंचमी पूजा दोनों का महत्व बढ़ जाता है। ऐसे योग में भगवान शिव की उपासना करने और नागों

नाग पंचमी 2019: कानपुर के नागेश्वर मंदिर में भक्तों उमड़ा सैलाब, जानिए मान्यताएं

नई दिल्ली: आज यानि सोमवार को नागपंचमी है। ऐसे में कई मंदिरों में शिव और नाग की पूजा अर्चना की जा रही है। उत्तर प्रदेश के कानपुर के नागेश्वर मंदिल में भी भक्तों मे दूध चढ़ाकर नागपंचमी मनाई। इसकी कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं।  बता दें कि इस बार नागपंचमी खास है और ये मौका 20 साल बाद आया है। दरअसल इस बार सावन में नागपंचमी पर सोमवार का

नाग पंचमी 2019: जानिए इस दिन क्या करें और क्या ना करें

चंडीगढ़: इस दिन भूमि की खुदाई नहीं की जाती। नाग पूजा के लिये नागदेव की तस्वीर या फिर मिट्टी या धातू से बनी प्रतिमा की पूजा की जाती है। दूध, धान, खील और दूब चढ़ावे के रूप मे अर्पित की जाती है। सपेरों से किसी नाग को खरीदकर उन्हें मुक्त भी कराया जाता है। जीवित सर्प को दूध पिलाकर भी नागदेवता को प्रसन्न किया जाता है। नाग पंचमी से जुडी

नाग पंचमी 2019: जानिए नागपंचमी का क्या संबंध है श्री कृष्ण से

चंड़ीगढ़: नाग पंचमी की पूजा का एक प्रसंग भगवान श्री कृष्ण से जुड़ा हुआ भी बताते हैं। बालकृष्ण जब अपने दोस्तों के साथ खेल रहे थे तो उन्हें मारने के लिये कंस ने कालिया नामक नाग को भेजा। पहले उसने गांव में आतंक मचाया। लोग भयभीत रहने लगे। एक दिन जब श्री कृष्ण अपने दोस्तों के साथ खेल रहे थे तो उनकी गेंद नदी में गिर गई। जब वे उसे

नाग पंचमी 2019: जानिए शुभ मुहूर्त व व्रत पूजन विधि

चंड़ीगढ़: इस बार नाग पंचमी पूरे 125 सालों बाद सावन के तीसरे सोमवार (पांच अगस्त) के दिन पड़ रही है ,जिसके कारण इस पर्व का फल दोगुना हो जाएगा। सोमवार और नागपंचमी दोनों ही दिन भगवान शिव की आराधना की जाती है। इसलिए इस बार नागपंचमी का विशेष महत्व होगा। नागपंचमी के दिन चंद्र प्रधान हस्त नक्षत्र और त्रियोग का संयोग भी बन रहा है। सर्वार्थ सिद्धि योग, सिद्धि योग

नाग पंचमी को क्यों करते हैं नागों की पूजा, जानिए नागमाता से जुडी कथा के बारे में....

नई दिल्ली  : श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि यानी इस वर्ष 5 अगस्त को नाग देवता की पूजा की जाएगी। श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नागों की पूजा के संदर्भ में एक कथा हैं, जिसमें नागों की पूजा के कारण का उल्लेख मिलता है। वेद और पुराणों में नागों का उद्गम महर्षि कश्यप और उनकी पत्नी कद्रू से माना जाता है। नागों का

नागपंचमी  पर इन मंत्रों के उच्चारण से करे नाग देवता को प्रसन्न....

नई दिल्ली   :   भगवान शिव के प्रिय महीने सावन में नागपंचमी का महत्व पुराणों में बताया गया है। नागपंचमी शुक्ल पक्ष में आती है। यह इस बार 5 अगस्त को है। अहम बात यह है कि यह सोमवार को है। इस वजह से शिव भक्तों के लिए यह दिन बहुत खास होगा। नागपंचमी के दिन लोग नाग देवता की पूजा करते हैं। उन्हें दूध भी पिलाते हैं।मान्यत है कि सावन

नाग पंचमी 2019: जानिए इस दिन के बारे में कुछ खास बातें

नई दिल्ली: नाग पंचमी हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। हिन्दू पंचांग के अनुसार सावन माह की शुक्ल पक्ष के पंचमी को नाग पंचमी के रूप में मनाया जाता है। इस दिन नाग देवता या सर्प की पूजा की जाती है और उन्हें दूध से स्नान कराया जाता है। लेकिन कहीं-कहीं दूध पिलाने की परम्परा चल पड़ी है। नाग को दूध पिलाने से पाचन नहीं हो पाने या प्रत्यूर्जता से

नाग पंचमी 2019: जानिए कथा और पूजन विधि

नई दिल्ली: नाग पंचमी के दिन उपवास रख, पूजन करना कल्याणकारी कहा गया है। श्रवण मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन नाग पंचमी का पर्व प्रत्येक वर्ष श्रद्धा और विश्वास से मनाया जाता है। इस दिन के विषय में कई दंतकथाएं प्रचलित है। जिनमें से कुछ कथाएं इस प्रकार है। इन में से किसी कथा का स्वयं पाठ या श्रवण करना शुभ रहता है। साथ ही विधि-विधान से