Pregnancy-Parenting

प्रेगनेंसी में बाईं तरफ सोना नहीं है जरूरी, स्‍टडी कहती है ये बात....

नई दिल्ली  :  हम सभी की सोने की एक पसंदीदा पोजीशन होती है लेकिन प्रेगनेंसी में महिलाओं को अपनी इस पसंद से भी समझौता करना पड़ता है। इस समय आपको अपने नहीं बल्कि अपने बच्‍चे के अनुसार सोना पड़ता है। लंबे समय से यह धारणा चली आ रही है कि प्रेगनेंसी में बाईं तरफ सोना लाभकारी होता है। कुछ महिलाओं को इस पोजीशन में आराम मिलता है क्‍योंकि इससे कमर

आपके बच्‍चे को पालने में सोना नहीं अच्‍छा लगता तो अपनाएं ये टिप्स.....

नई दिल्ली  :  बच्‍चे को सुलाना वाकई में काफी मुश्किल काम है। लोरी सुनाने से लेकर उसे गले लगाकर सुलाना आसान बात नहीं है। कई बार बच्‍चों को क्रिब यानी पालने में लिटाने पर वो रोने लगता है आपसे खुद को वापस गोद में लेने की जिद करने लगता है। अगर आपको लगता है कि सिर्फ वयस्‍कों को अच्‍छी और गहरी नींद लेने में दिक्‍कत होती है तो आप गलत

प्रेग्नेंसी के दौरान पेरासिटामोल खाने से पेट में पल रहे हैं बच्‍चें को सकते है कई  नुकसान....

नई दिल्ली  : प्रेग्नेंसी के दौरान पेरासिटामोल लेना सेहत के ल‍िए खतरनाक साबित हो सकता है। एक रिसर्च में पाया गया है क‍ि जो मांए प्रेग्नेंसी के दौरान पेरासिटामोल लेती रही थीं, उनके बच्चों के दिमाग पर इसका नकारात्मक असर पड़ा। प्रेगनेंसी के दौरान पेरासिटामोल लेने से उनके गर्भ में पल रहे बच्चों में कम आईक्यू, याददाश्त पर नकरात्‍मक प्रभाव देखने के साथ ही बच्‍चों के दिमाग का विकास बहुत

जानिए बच्चे को पकड़ने के लिए लोग बायां हाथ ही क्यों करते हैं इस्तेमाल?....

नई दिल्ली :  घर में छोटे बच्चे के आ जाने के बाद से माहौल ही बदल जाता है। घर की रौनक बढ़ जाती है। उसे खिलाना हो, रोते से चुप कराना हो या फिर उसे सुलाना हो, गोद में लेकर प्यार भरी थपकियों के साथ ये सभी काम आसान हो जाता है। लेकिन कभी आपने इस बात पर ध्यान दिया कि बच्चे को लोग अपने बाएं हाथ में ही क्यों

प्रेगनेंसी में खांसी जुकाम से राहत पाने के लिए करें ये घरेलू उपाय.....

नई दिल्ली :   भारत में हर समय मौसम बदलता रहता है। वहीं प्रदूषण की वजह से भी सर्दी, जुकाम, खांसी और एलर्जी होना आम बात है। प्रेगनेंसी में इम्‍यून सिस्‍टम अकसर कमजोर हो जाता है और आप आसानी से संक्रमण की चपेट में आ सकती हैं। अगर आप मां बनने वाली हैं और आपको जुकाम लग जाता है तो गायनेकोलॉजिस्‍ट आपको एंटीबायोटिक लेने की सलाह देंगीं जिससे शिशु पर जुकाम

बच्‍चों के साथ सख्‍ती से पेश आने पर भविष्य में हो सकता है भारी नुकसान....

नई दिल्ली  :  बच्‍चों के साथ सख्‍ती से पेश आने का असर उनके विकास पर भी पड़ता है। अमूमन पेरेंटिंग तीन प्रकार की होती है। पहली अपने बच्‍चों को स्‍वतंत्रता देना और दूसरी बच्‍चों को डांट-डपट कर रखना और तीसरा है प्‍यार से बच्‍चों का रखना। इन तीनों में ही संतुलन बनाकर चलने से बच्‍चे के व्‍यक्‍तित्‍व को सकारात्‍मक रूप से संवारा जा सकता है। माना जाता है कि बच्‍चों

नवजात शिशु को पहली बार बुखार चढ़ने पर क्या करना चाहिए?....

नई दिल्ली :  सच कहा जाए तो माता पिता बनना दुनिया का सबसे अलग एहसास है। ये एक रोमांचकारी यात्रा है जहां उतार और चढ़ाव दोनों होते हैं। गर्भ में बच्चे की पहली हलचल महसूस करने से लेकर उसकी नन्ही उंगलियों की छुअन ही खास होती है। एक के बाद एक इस तरह के अनुभव मिलने से बच्चे की परवरिश का ये सफर मजेदार बना रहता है।नौ महीने गर्भधारण करने

जानिए नवजात शिशु के बाल झड़ना सामान्‍य बात है या नहीं....

नई दिल्ली  :  अगर आपको लगता है कि सिर्फ उम्रदराज लोगों के ही बाल झड़ते हैं तो आप गलत हैं। 2 साल के होने तक नवजात बच्‍चों के भी बाल झड़ सकते हैं। कुछ कारणों और जींस की वजह से खासतौर पर जन्‍म के पहले 6 महीनों में शिशु के बाल झड़ सकते हैं।वैसे तो मां के गर्भ में ही शिशु के सिर पर बाल आने शुरु हो जाते हैं।

घर में बच्चे हैं तो आपकी फर्स्ट एड किट में ये सामान जरुर होने चाहिए.....

नई दिल्ली  :  छोटे बच्‍चों को अकसर खेलने के दौरान चोट लग जाती है। बच्‍चों को अपना काम करना सिखाते समय उन्‍हें कई बार चोट लग जाती है या वो फिर उनका हाथ जल जाता है। अगर उस समय पर सही इलाज ना दिया जाए तो ये छोटी-छोटी परेशानियां बड़ा रूप ले सकती हैं। इसलिए आपको अपने घर में फर्स्‍ट एड किट रखना चाहिए। आइए जानते हैं कि घर पर

प्रेग्नेंसी में मीठा खाने के बाद जरुर करें ब्रश, वरना पेट में पल रहे शिशु को हो सकते है ये नुकसान....

नई दिल्ली  :  प्रेगनेंसी हर महिला के जीवन में बहुत ही नाजुक पल होता है। इस समय शरीर में कई बदलाव होते हैं और इस दौरान वह कई जटिल शारीरिक बदलावों से गुजरती है। अगर इन बदलावों का ढंग से ध्यान न रखा गया तो उस का प्रभाव पेट में पल रहे शिशु पर पड़ता है। इन में से एक है दांतों की देखभाल। क्या आप को पता है कि