Sawan 2019

Sawan 2019

राखी के दिन होता है श्रावणी उपाकर्म, इस दिन बन रहा है सौभाग्य एवं पंचांग योग....

नई दिल्ली : श्रावण मास की पूर्णिमा को देशभर में रक्षाबंधन मनाया जाता है, जो इस वर्ष 15 अगस्त दिन गुरुवार को है। रक्षाबंधन के दिन राखी बांधने के अलावा श्रावणी उपाकर्म होता है, जिसे श्रावणी उपाकर्म: संस्कृत दिवस के रूप में मनाया जाता है।इस दिन प्रातःकाल में दैनिक क्रियाओं से निवृत होने के बाद स्नान करते हैं। फिर कोरे जनेऊ की पूजा करते हैं। जनेऊ के गाठ में ब्रह्म

आज है सावन का आखिरी सोमवार, जानें पूजा, व्रत विधि और महत्व....

नई दिल्ली  :   आज (12 अगस्त) को सावन का आखिरी सोमवार है। इस दिन भगवान शिव की लोग पूजा-अर्चना करते हैं। साथ ही मान्यता है कि सावन के आखिरी सोमवार के दिन रुद्राभिषेक करने से मनोकामनाएं जरूर पूर्ण होती हैं। यही नहीं, इस दिन भगवान महाकाल की पूजा-अर्चना करने से बड़े से बड़ा संकट भी टल जाता है।प्रदोष व्रत पर भगवान शिव की पूजा शाम को ही शुरू करने की

सावन के आखिरी सोमवार के दिन बन रहा है प्रदोष व्रत का भी संयोग, जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त....

नई दिल्ली  :  भगवान शिव को प्रिय सावन के महीने का समापन 15 अगस्त को रक्षाबंधन के त्योहार के साथ हो जाएगा। वैसे, इससे पहले भगवान शिव की भक्ति में डूबने का एक अहम मौका 12 अगस्त को जरूर आ रहा है। 12 अगस्त को सावन का सोमवार है। साथ ही शुभ संयोग ये भी है कि इसी दिन प्रदोष व्रत भी है। मान्यता है कि सावन के आखिरी सोमवार

सावन के आखिरी सोमवार और ईद की तैयारी पूरी, हर तरफ जवान दे रहे हैं पहरा....

मुरादाबाद: कल सावन का आखिरी सोमवार है। ऐसे में सावन के आखिरी सोमवार पर भारी संख्या में शिवभक्त जलाभिषेक करने के लिए हरिद्वार और गढ़मुक्तेश्वर से गंगाजल लेकर मुरादाबाद पहुंच रहे हैं। जिसके चलते शहर में भीड़-भाड़ का माहौल दिखाई दे रहा है। इसके लिये प्रशासन की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। वहीं सावन के अंतिम सोमवार के साथ ही ईद-अल-अधा का त्योहार भी है। जिसके

सावन के आखिरी सोमवार के दिन बन रहा है प्रदोष व्रत का भी संयोग, जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त....

नई दिल्ली  :  भगवान शिव को प्रिय सावन के महीने का समापन 15 अगस्त को रक्षाबंधन के त्योहार के साथ हो जाएगा। वैसे, इससे पहले भगवान शिव की भक्ति में डूबने का एक अहम मौका 12 अगस्त को जरूर आ रहा है। 12 अगस्त को सावन का सोमवार है। साथ ही शुभ संयोग ये भी है कि इसी दिन प्रदोष व्रत भी है। मान्यता है कि सावन के आखिरी सोमवार

सावन के अंतिम शनिवार बन रहा है गजब का संयोग, मिलेगा धन संपत्ति का वरदान....

नई दिल्ली  :  सावन का हर शनिवार धन प्राप्ति के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। कहा जाता है कि सावन में आने वाले शनिवार में शनि की कृपा बहुत सरलता से मिल सकती है।सावन में शनि की उपासना से वर्ष भर शनि उपासना की आवश्यकता नहीं रहती। इस बार सावन के अंतिम शनिवार को दशमी तिथि का संयोग बन रहा है। जिसकी वजह से यह शनिवार विशेष फलदायी हो

सावन के आखिरी सोमवार के दिन बन रहा है प्रदोष व्रत का भी संयोग, जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त....

नई दिल्ली  :   भगवान शिव को प्रिय सावन के महीने का समापन 15 अगस्त को रक्षाबंधन के त्योहार के साथ हो जाएगा। वैसे, इससे पहले भगवान शिव की भक्ति में डूबने का एक अहम मौका 12 अगस्त को जरूर आ रहा है। 12 अगस्त को सावन का सोमवार है। साथ ही शुभ संयोग ये भी है कि इसी दिन प्रदोष व्रत भी है। मान्यता है कि सावन के आखिरी सोमवार

सावन में भगवान गणेश जी को खुश करने के लिए , इन दो चीजों का लगाएं भोग....

नई दिल्ली  : श्रावण मास शिव परिवार की पूजा-अर्चना के लिए समर्पित होता है। सोमवार के दिन देवों के देव महादेव, मंगलवार को माता पार्वती के मंगला गौरी स्वरूप और बुधवार को उनके छोटे पुत्र भगवान गणेश की पूजा का विधान है। श्रावण मास भगवान शिव का प्रिय मास है, इसलिए इस मास के बुधवार को भगवान गणेश की पूजा करने से विशेष फल प्राप्त होता है। विधि विधान से

सावन में श्रीकृष्ण की पूजा करने से मिलता विशेष फल...

नई दिल्ली  :  सावन में भगवान शिव की पूजा अर्चना के साथ-साथ श्री कृष्ण की आराधना का भी फल मिलता है। यदि श्रावण शुक्ल पक्ष अष्टमी से भाद्रपद कृष्ण अष्टमी तक भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना करें तो इसका विशेष लाभ मिलता हैं। यदि आप भगवान श्रीकृष्ण की अनन्य कृपा प्राप्त करना चाहते हैं, तो अपनी राशि के मुताबिक भगवान के मंत्रों का जाप करें। इससे भगवान श्रीकृष्ण भक्तों पर कृपा

क्‍यों सावन में चाव से खाया जाता है घेवर, जानें इतिहास और इंग्लिश में इसका नाम.....

नई दिल्ली  :   घेवर राजस्‍थान की खूब जानी मानी मिठाईयों में से एक है। कुछ प्रमुख त्योहारों में घेवर बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वैसे घेवर खाने में ज‍ितना स्‍वादिष्‍ट लगता है, इतना ही इसका इतिहास भी काफी रोचक है। सावन के दौरान कई जगह छप्पन भोग का आयोजन किया जाता है, घेवर छप्पन भोग के अन्तर्गत प्रसिद्ध व्यंजन है। सावन के दौरान कई तरह के तीज त्‍योहार पड़ते है