Teachers Day

Teachers Day

ऐसे तैयार करें स्पीच और निबंध, जताएं टीचर का आभार....

नई दिल्ली :  टीचर्स डे पर स्कूलों-कॉलेजों या अन्य संस्थानों में कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। ये वो दिन होता है जब हमें अपने टीचर्स का आभार जताने का मौका मिलता है। वो टीचर जो हमें हमेशा सिखाता/सिखाती हैं। उन्हें आज ही के दिन बताना होता है कि अगर वो हमारा साथ नहीं देंगे। सही राह नहीं दिखाते तो हम आज वहां नहीं पहुंच पाते जहां हैं। ऐसे में जरूरी

इस टीचर्स डे पर जानिए उन बॉलीवुड फिल्मों के बारे में, जिनसे मिली प्रेरणा....

नई दिल्ली: हर साल 5 सितंबर को टीचर्स डे के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म हुआ था। शिक्षक दिवस के दिन बच्चे टीचर्स के लिए विशेष कार्यक्रम का आयोजन करते हैं। इस दिन स्टूडेंट्स, शिक्षकों के प्रति अपना प्यार और सम्मान जाहिर करते हैं। स्कूलों में बच्चे टीचर बनकर आते हैं और अपनी से छोटी कक्षाओं के बच्चों के

टीचर्स डे के शुभ अवसर पर गुरुओं को भेजें ये SMS,और करें विश....

 नई दिल्ली  :  5 सितंबर की तारीख का भारत में एक खास महत्व है। दरअसल यह देश के द्वितीय राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन है और उन्हीं के सम्मान में इस दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। 5 सितम्बर 1888 को तमिलनाडु में जन्मे डॉ. राधाकृष्णन देश के द्वितीय राष्ट्रपति थे और उन्हें भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद्, महान दार्शनिक और एक आस्थावान हिन्दू

शिक्षक दिवस पर जानें डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन से जुड़ी ये बातें...

नई दिल्ली  :  डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन को 1962 से शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने अपने छात्रों से जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाने की इच्छा जताई थी। दुनिया के 100 से ज्यादा देशों में अलग-अलग तारीख पर शिक्षक दिवस मनाया जाता है। देश के पहले उप-राष्‍ट्रपति डॉ राधाकृष्‍णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के तिरुमनी गांव में एक ब्राह्मण परिवार

टीचर्स डे 2019 : जानिए उन 5 खूबियां जो हर अच्छे शिक्षक में होनी चाहिए

नई दिल्ली: ज्ञान की बात हो, योग्यता की या फिर बेहतर इंसान होने की, इन सभी मामलों में शिक्षक हमारे जीवन में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। लेकिन ज्ञान के साथ-साथ कुछ और भी योग्यताएं हैं जो एक शिक्षक को अपने आप में बेहतरीन और स्टूडेंट्स का पसंदीदा बनाती हैं। जानिए ऐसी ही 5 खूबियां जो आपको भी बना सकती हैं बेहतरीन शिक्षक – 1 नॉलेज- एक शिक्षक होने के

टीचर्स डे 2019: आखिर 5 सितंबर के दिन ही क्यों मनाया जाता​ है शिक्षक दिवस

नई दिल्ली: पूरे देश में 5 सितंबर को टीचर्स डे (Teacher’s Day) धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन स्‍कूल, कॉलेज, कोचिंग और अन्‍य शिक्षण संस्‍थानों में शिक्षकों के सम्‍मान में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, जिनमें स्‍टूडेंट्स शिक्षकों को तोहफे देकर अपना सम्‍मान प्रकट करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि शिक्षक दिवस या टीचर्स डे 5 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है। आइए जानते हैं…

टीचर्स डे 2019 : विद्यार्थियों के नाम, एक खत

नई दिल्ली: आप आज शिक्षक दिवस मना रहे हैं। दिवसों की भीड़ में एक और दिवस। कहने को मैं आपकी शिक्षिका हूं, किंतु सच तो यह है कि जाने-अनजाने न जाने कितनी बार मैंने आपसे शिक्षा ग्रहण की है। कभी किसी के तेजस्वी आत्मविश्वास ने मुझे चमत्कृत कर‍ दिया तो कभी किसी विलक्षण अभिव्यक्ति ने अभिभूत कर दिया। कभी किसी की उज्ज्वल सोच से मेरा चिंतन स्फुरित हो गया तो

टीचर्स डे 2019: जानिए शिक्षक दिवस से जुड़ी कुछ खास बातें

नई दिल्ली: पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन (5 सितंबर) को हर वर्ष भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने अपने छात्रों से जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाने की इच्छा जताई थी। सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद और महान दार्शनिक थे। डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 27 बार नोबेल पुरस्कार के लिए नामित किया गया था. 1954 में उन्हें भारत

टीचर्स डे 2019:  अपने शिक्षक को भेजें ये एसएमएस...

नई दिल्ली: 5 सितंबर को स्कूल कॉलेज, यूनिवर्सिटीज और इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स अपने-अपने गुरुओं को सम्मानित करते हैं। टीचर्स डे भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म-दिवस के रूप में मनाया जाता है। वह एक महान शिक्षक होने के साथ-साथ स्वतंत्र भारत के पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति थे। 1954 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद और महान