प्रेगनेंसी में ऐसे रखें अपने नन्हे शिशु के दांतों का ख्याल

प्रेगनेंसी में ऐसे रखें अपने नन्हे शिशु के दांतों का ख्याल

नई दिल्ली : बच्चों की अच्छी देखभाल हर माता पिता की पहली प्राथमिकता होती है लेकिन कई बार कुछ चीज़ें ऐसी होती है जो अनजाने में ही सही लेकिन उस पर हम ध्यान नहीं दे पाते जी हाँ हम बात कर रहे है आपके नन्हे शिशु के दाँतों की अक्सर हमने देखा है कि जब तक बच्चा 6 महीने का नहीं हो जाता हम उसके दाँतों पर ध्यान नहीं देते लेकिन क्या आप यह जानते है कि बच्चों के दांतों का पहला सेट जिसे प्राइमरी टीथ भी कहतें उनके सुन्दर मसूड़ों के नीचे मौजूद होता है बच्चा जब माँ के गर्भ में केवल ६ हफ़्तों का होता है तभी से यह दांत बनने लगते है उस वक़्त बच्चों के दांत कैल्शियम और अन्य सख्त पदार्थों से ढका होता है और इस प्रक्रिया को मिनरलाइज़ेशन कहतें है दाँतों के पल्प पर दो परतें होती है|

एक डेंटिन और और बाहरी परत को इनामेल कहते है यह सब गर्भावस्था के तीसरे और छठे तिमाही में होता है| इसलिए अब यह जरूरी है कि आप अपने बच्चे के दाँतों का ख़ास ध्यान रखें ऐसी कई सारी चीज़ें है जिन पर आप ध्यान देकर अपने गर्भ में पल रहे शिशु के दाँतों को मज़बूत बना सकती है इसके अलावा क्या आप यह जानती है कि गर्भावस्था के दौरान कुछ चीज़ें ऐसी भी होती है जो आपके बच्चे के दाँतों को नुकसान पहुंचा सकते है| हेल्थी प्रेगनेंसी के लिए अच्छी डाइट जरूरी होती है| आप अपने दाँतों का भी ध्यान रखें| पानी खूब पीएं 4फोलिक एसिड का उपभोग करें| एंटीबायोटिक्स से बचें| हेल्थी प्रेगनेंसी के लिए अच्छी डाइट जरूरी होती है गर्भावस्था के दौरान अच्छा खान पान बेहद ज़रूरी होता है|

ताकि गर्भ में पल रहे शिशु का विकास ठीक से हो सके यदि आपके खाने पीने की आदत सही होगी तो इससे आपके बच्चे के दांत भी सुन्दर हौर मज़बूत होंगे| प्रोटीन मानव शरीर के प्रमुख घटकों में से एक है।यह शरीर की कोशिकाओं और ऊतकों के निरंतर रखरखाव और मरम्मत का काम करता है। आमतौर पर सारे प्रोटीन्स एमिनो एसिड होते है जिनमे से कुछ हमारे आहार के माध्यम से प्राप्त किये जाते है जब बात दांतों की आती है तो क्या आप जानते है कि इनेमल का निर्माण करना प्रोटीन का ही काम होता है ऐसे में आप गर्भावस्था के दौरान मीट का सेवन अधिक करें यदि आप शाकाहारी है तो दूध से बने उत्पाद, दाल और प्रोटीन युक्त चीज़ें खाने पर ज़्यादा ज़ोर दे|

आमतौर पर दांत कैल्शियम होते है यदि गर्भावस्था के दौरान आप भरपूर मात्रा में कैल्शियम का सेवन नहीं करेंगी तो आपका शरीर आपके दाँतों और हड्डियों से आपके बच्चे को कैल्शियम प्रदान करेगा| यह आपके सेहत के लिए बेहद हानिकारक हो सकता है| इसलिए आपके लिए ज़रूरी है कि आप गर्भावस्था में कैल्शियम युक्त चीज़ें जैसे डेरी उत्पाद, ब्रोक्कोली और अंडे का सेवन अधिक मात्रा में करें| गर्भावस्था के दौरान यदि आपको दादतों से जुड़ी समस्या होगी तो इसका प्रभाव आपके बच्चे पर भी पड़ेगा ध्यान रहे ज़्यादा मीठा या चिपचिपा खाने से आपको बचना है|

नियमित रूप से और सही तरीके से अपने दाँतों की सफाई करें जब बच्चे का जन्म होता है| तब उसके मुँह में किसी भी तरह के के जर्म्स नहीं होते माँ जब पहली बार अपने नन्हे मुन्ने को प्यार से चूमती है| तो उसके मुँह में पहली बार जर्म्स का प्रवेश होता है| यदि आप अपनी दाँतों की देखभाल बेहतर ढंग से करेंगी तो आपके बच्चे के मुँह में भी जर्म्स जाने का खतरा नहीं होगा| बच्चे के विकास के लिए पानी बेहद जरूरी है| और साथ ही उसके दाँतों के लिए भी यदि आप ऐसे पानी का सेवन करतीं है| जिसमे फ्लोरिड होता है| तो यह आपके बच्चे के ओरल हेल्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद है|

ध्यान रहे आप अपने डॉक्टर से फ्लोरिड की मात्रा के विषय में जानकारी हासिल कर लें क्योंकि प्रेगनेंसी में फ्लोराइड का अधिक सेवन हानिकारक हो सकता है| फोलिक एसिड आपके बच्चे के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है आप अपने डॉक्टर से सालाह लेकर इसका सेवन कर सकतीं है| गर्भावस्था के दौरान अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक्स का सेवन करने से आपके बच्चे के दाँतों को नुकसान पहुँच सकता है याद रखिये बिना डॉक्टर से सालाह लिए आप प्रेगनेंसी में एंटीबायोटिक्स का सेवन न करें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *